BREAKING NEWS
 Mail to a Friend Rate      

शालीन शिवराज की भी फिसली जुबान, चुनाव में इन नेताओं के बयानों से पार्टियां भी शर्मिंदा

Sat, Mar 4th 2017 / 19:32:21 राजनीति
शालीन शिवराज की भी फिसली जुबान, चुनाव में इन नेताओं के बयानों से पार्टियां भी शर्मिंदा

2017 में पांच राज्यों में चुनाव प्रचार के दौरान नेता विवादित बयान देने से बाज नहीं आ रहे हैं. भाषा के गिरते स्तर और गरिमा को लेकर प्रधानमंत्री से लेकर सांसदों तक पर सवाल उठे हैं. ताजा मामला एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान का है, जिनकी सपा नेता आजम खान पर टिप्‍पणी से विवाद पैदा हुआ है. शिवराज भाषा के मामले में शालीन और सभ्य मानें जाते हैं, उनके जैसे नेता की जुबान का फिसलना प्रचार के स्तर पर सवाल उठाता है. आइए जानते हैं 2017 में किन नेताओं की प्रचार के दौरान फिसली जुबान. किन नेताओं ने तोड़ी मर्यादा और पार्टी को होना पड़ा शर्मिंदा.

यूपी में चुनाव प्रचार करते हुए सोमवार को एक रैली के दौरान मध्य प्रदेश के सी.एम. शिवराज सिंह चौहान ने कहा- आजम खान ऐसे नेता हैं कि अगर उनका नाम ले लूं, तो नहाना पड़ता है. उनका यह बयान विवादों में आ गया.

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने आगरा में रैली के दौरान कहा- जिन्होंने ऐसे दुष्कर्म किए होते हैं... इनको वहीं लड़कियों-महिलाओं के सामने उल्टा लटका-लटका कर मार-मारकर चमड़ी उधेड़ कर फिर मांस में नमक और मिर्च भर देना चाहिए। ताकि वे तड़पें और उन्हें तड़पते हुए देखें वो लड़कियां, वो मांएं और वो बहनें खुश हो ...जब ये दुष्कर्मी तड़पेंगे तो ये अपनी जिंदगी की भीख मांगेंगे।

बी.जे.पी. के विनय कटियार से जब पूछा गया कि कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बेटी से यूपी के चुनावी अभियान पर किसी तरह का असर पड़ेगा। तो उनोहोने कहा था 'प्रियंका जैसी बहुत सी कलाकार हैं, हीरोइनें है, और खूबसूरत महिलाएं हैं जो कि चुनावी अभियान चला सकती हैं। बी.जे.पी. के पास कमी है क्या..?'

वे इतना कहकर ही नहीं रुके, आगे कहा- 'प्रियंका उतनी भी खूबसूरत नहीं हैं जितना लोग प्रचारित करते हैं, इससे भी ज्यादा खूबसूरत महिलाएं हैं जो उनसे ज्यादा भीड़ जुटा सकती हैं. स्मृति ईरानी खड़ी हो जाती हैं तो भीड़ जुटा लेती हैं, अच्छा भाषण भी देती हैं.'उनसे ज्यादा सुंदर प्रचारक हमारी पार्टी में हैं. कटियार के बयान पर कांग्रेस ने अफसोस जताया था, लेकिन उन्होंने माफी नहीं मांगी

यू.पी. में बीजेपी विधायक सुरेश राणा ने कहा था- अगर मैं जीत जाता हूं तो कैराना, देवबंद और मुरादाबाद में कर्फ्यू लग जाएगा. इसी तरह बी.जे.पी. नेता संजीव बलयान ने मुलायम सिंह यादव पर अजीब टिप्पंणी की थी। उन्होंएने कहा था- मुलायम सिंह यादव हमेशा ही सांप्रदायिकता की राजनीति करते हैं, उन्हें अब मर जाना चाहिए।
बीएसपी के मेरठ दक्षिण विधानसभा सीट के प्रत्याशी हाजी याकूब कुरैशी ने जनसभा के दौरान पी.एम. मोदी और बीजेपी को लेकर विवादित टिप्पोणी की, उन्होंनने कहा कि- बीजेपी को आने से रोको मुसलमानों वरना बीजेपी तुमको रोजा नहीं रखने देगी, नमाज पढ़नी भी बंद हो जाएगी।

लोकसभा में नोटबंदी पर बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व पी.एम. मनमोहन सिंह पर तंज कसते हुए कहा- बाथरूम में रेनकोट पहनकर नहाना मनमोहन सिंह से सीखें. पी.एम. के बयान पर काफी बवाल मचा। कांग्रेसी सांसदों ने जमकर हल्ला कर वॉक आउट किया।

समान समाचार