BREAKING NEWS
 Mail to a Friend Rate      

बिजली पर पीएम मोदी ने फिर ली चुटकी, अखिलेश को भोले बाबा ने भी दे दिया कटौती का सबूत

Sat, Mar 4th 2017 / 20:40:29 राजनीति
बिजली पर पीएम मोदी ने फिर ली चुटकी, अखिलेश को भोले बाबा ने भी दे दिया कटौती का सबूत

शिव की नगरी बनारस में आज दिन में रोड शो करने के बाद शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी के टाउन हाल में लोगों को संबोधित किया। प्रधानमंत्री मोदी ने सबसे पहले हर हर महादेव को जयघोष किया. उसके बाद उन्होंने बनारसी लहजे में लोगों का आभार जताया। पी.एम. ने कहा कि सब लोगन का हमार प्रणाम बा... हम एनी काशी विश्वनाथ के दर्शन करीली, बाबा काल भैरव के दर्शन पहली बार भइल बा... ऐसे काशी लोगन के सब गुरुदेव लोगन का प्रणाम बाबा।

पी.एम. ने लोगों से पूछा कि अटल जी के समय से रिंग रोड अटका था, काम शुरू हो गया क्या ? कितनी राहत होगी ? एयरपोर्ट से फोर लेन का काम दिखता है ? जनता ने हां में जवाब दिया तो पी.एम. ने कहा कि अखिलेश जी को नहीं दिखता है। अंधरा पुल का काम पड़ा था, हमने करके दिखाया कि नहीं ?


मैंने कहा था तारों के झुण्ड से काशी को मुक्ति दिलाऊंगा। तारों को जमीन के भीतर करने का काम शुरू हो गया. 600 करोड़ का काम हो चुका है। लाइन लॉस का नुकसान जनता को होता है. जमीन के भीतर तारों से ये बचत होगी , 24 घंटे बिजली आयेगी, अभी आती है क्या ? जनता ने जवाब दिया...नहीं!
-मुझे गंगा की शपथ खाने की जरूरत है क्या ? जो रोज कसम खाते थे, ईश्वर का न्याय तो होता है। उन्होंने अखिलेश पर तंज कसते हुए कहा कि आज जब वो भोले बाबा के यहां जा रहे थे तो बिजली चली गई. काशी में बिजली 24 घंटे मिलती है या नहीं ? मुझे गंगा की सौगंध खाने की ज़रूरत है क्या ? कोई ईश्वर को माने या न माने लेकिन ताकत तो होती है। जो लोग रोज़ झूठ बोलते थे, आज जब वह मंदिर जा रहा थे, उसी समय बिजली चली गई।

काशी केवल एक राजनितिक क्षेत्र नहीं है. मैं काशी छोड़कर वड़ोदरा का एमपी बन सकता था लेकिन मैंने काशी को इसलिए चुना क्योंकि दुनिया के इस प्राचीन शहर की कीर्ति चारो ओर पहुंचे। आप काशीवासी कर रहे हैं, लेकिन मैं भी गिलहरी की तरह कुछ कर सकूं।
काशी मानव जाति के लिए सन्देश है. काशी को सबको मिलकर उत्तम काशी बनाने की कोशिश करना चाहिए।

आपने देखा होगा कोई न कोई नया प्रकल्प लगाए रहता हूँ. मुझे जिम्मेदारी दी मैं इसे करके धन्य समझता हूँ. काशी की आत्मा को बनाये रखकर काशी का कायाकल्प भी करना है। ऐसा शहर जिसमें विरसात भी हो और वाई-फाई भी हो। सांस्कृतिक चेतना भी हो सफाई भी, आध्यात्मिक पहचान भी हो, आधुनिकता भी हो. गंगा मां की तरह काशी में कभी ठहराव न हो।

इससे पहले उन्होंने कहा कि पार्टी की इच्छा थी कि मैं बनारस में एक रैली को संबोधित करूँ. मैंने पार्टी से विनती की कि काशी मेरा लोकसभा का क्षेत्र हैं. मै आऊँ या न आऊँ आप तो चुनाव जीतने वाले हो।

मेरे मन में एक कसक थी, मैं लोकसभा का चुनाव लड़ा तो मन में इच्छा थी कि पूरे क्षेत्र का भ्रमण करूं, लेकिन पूरे देश में जाना होता था. उस समय यहां मुझे इलेक्शन कमीशन ने रैली नहीं करने दी. पता नहीं क्या दवाब आया? मैंने फिर अनुमति मांगी, लेकिन अनुमति नहीं मिली. मेरे मन में कसक थी. मैं जन संपर्क नहीं कर पाया, लेकिन काशी के लोगों ने मुझे भारी बहुमत से जिताया.

मेरे मन में काशी आने की इच्छा थी, मैंने पार्टी से कहा मुझे काशी में ज़्यादा समय बिताना चाहता हूं. मैं बाबा विश्वनाथ और बाबा काल भैरव के दर्शन में खुली जीप में निकला, आपके दर्शन का सौभाग्य मिला, मैं पीएम भले ही हूं, लेकिन पार्टी का कार्यकर्ता भी हूं. आज जाऊंगा कल फिर आऊंगा. एक दिन तो कम से कम रुकना चाहिए. कल रात यहां रुकुंगा.

काशी में मैं अपने अन्दर के कार्यकर्ता को जिंदा रखने का अवसर खोजता रहता हूं और यह अवसर आपने मुझे दिया. काशी मेरे लिए सिर्फ राजनीतिक क्षेत्र नहीं. मुझे काशी के लोगों ने भी चुना था और वडोदरा के लोगों ने भी चुना था. मै वडोदरा को भी चुन सकता था, लेकिन मैंने काशी को इसलिए अपनाया ताकि काशी की आन बान शान कैसे चमकने लगे.

इससे पहले दिन में पीएम मोदी का रोड शो खत्म होते ही समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने अपना रोड शो शुरू किया. सपा के रोड शो में मुख्य चेहरा अखिलेश यादव पत्नी डिंपल यादव के साथ थे. उनके साथ रोड शो में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी थे. वहीं मायावती ने भी एक बड़ी रैली को संबोधित किया.
शाम को बनारस में राहुल गांधी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि ऐतिहासिक रोड शो आज हुआ है, उसके लिए आप सबका दिल से धन्यवाद. इस रोड शो ने आज उत्तर प्रदेश को हिन्दुस्तान को और मोदीजी को एक मैसेज दिया है.

समान समाचार